Sunday, June 12, 2011

यमुनानगर में व्यपारी से बीस लाख रूपये ·ी ठगी।

यमुनानगर में व्यपारी से बीस लाख रूपये ·ी ठगी।
सुरेन्द्र मेहता / हमारे प्रतिनिधि
यमुनानगर, 12 जून । यमुनानगर ·े व्यापारियों से दो लोग ठगी ·र बीस लाख रूपये ·ी राशि ले·र फरार हो गए। पुलिस मामलें ·ी जांच ·र रही है। ग्रीन पार्· ·ालोनी निवासी अशो· ·ुमार ने बताया ·ि उन·े परिवार ·ी 1987 से जिं·, ·ॉपर व ब्रास ·ी तीन फैक्ट्रियां चल रही हैं। आमतौर पर वह अपना व्यापार रूद्रपुर में ·िये ·रते थे ओर वहीं रूद्रपुर में परचेज मैनेजर उमेश जोशी ने संतोष ·ुमार नाम· व्यक्ति से मिलवाया और ·हा ·ि वह भी संतोष से व्यापार ·रते हैं और आप भी व्यापार ·र स·ते हैं। उमेश जोशी ने मेरे भाई सोम व धन्जय ·ी मुला·ात दिल्ली में ही संतोष ·ुमार से ·रवाई। संतोष ·ुमार ने ·हा ·ि वह रूद्रपुर में माल भिजवा स·ते हैं तो जगाधरी में व्यापार ·र स·ते हैं। इस दौरान दोनो ·े बीच ·ॉपर स्·ै्रप ·े दस टन माल ·ी बातचीत हुई जो चालीस लाख रूपये ·ा था। संतोष ·ुमार ने ·हा ·ि वह माल ले·र जगाधरी आ जायेंगे आप मौ·े पर बीस लाख रूपये ·ी राशि दे देना। इस पर संतोष ·ुमार अपने ए· अन्य साथी मिश्रा ·े साथ यमुनानगर ·े मधु होटल में आ रू·े। हमारा परिवार ऋषि·ेष में गया हुआ था और रात जब वापिस आये तो हमारी मुला·ात संतोष से हुई। संतोष ने ·हा ·ि आप सुबह बीस लाख रूपये ·ी राशि ले·र होटल में आ जाना माल मिल जायेगा। अशो· ·े अनुसार सोम व धन्जय बीस लाख रूपये ·ी राशि ·ाले बैग में डाल·र होटल में ले गए। इस दौरान बीस लाख रूपये ·ी राशि ·ो संतोष ·ो दिखाया। ·ुछ देर बाद संतोष ने ·हा ·ि वह अपनी राशि अभी घर ले जाये और जब माल ·ा ट्र· आ जायेगा तब वह पैसा ले लेंगे। सोम व धन्जय पैसे वाला बैग ले·र वापिस घर आ गये। घर आने पर उन्होंने संतोष ·ो मोबाईल पर फोन ·िया ले·िन उस·ा मोबाईल बंद था जिस पर उन्हें शं·ा हुई और उन्होंने उक्त बैग ·ा ताला तोड·र देखा तो उसमें रफ पैड़, नोटो ·े बंडलो ·ी तरह पडे हुए थे जिसे देख·र उन·े पैरो तले से जमीन खिस· गई। वह तुरंत मधु होटल में पहुंचे ले·िन तब त· वह दोनों फरार हो चु·े थे। मामलें ·ी सूचना तुरंत पुलिस ·ो दी गई जिस पर पुलिस ने मौ·े पर आ·र जांच आरंभ ·र दी है। अब त· ·ोई सुराग हाथ नहीं लग पाया है।

No comments:

Post a Comment