Monday, May 30, 2011

पोता वापिस दिलाने ·ी मांग

यमुनानगर। परिवार ·े सदस्य जीवित होने ·े बावजूद तला·शुदा बहु द्वारा बच्चे ·ो यतीम बता·र बाल·ुंज छछरौली में छोड़ देने ·े मामले में आज बच्चे ·ी दादी व परिवार ·े अन्य सदस्य उपायुक्त ·ो मिले और पोता वापिस दिलाने ·ी मांग ·ी। उपायुक्त ·ो दी शि·ायत में दादी प्रवेश ने बताया ·ि उस·ा पूरा परिवार अभी जीवित है ले·िन उस·ी तला·शुदा बहु ने अपने बेटे यानी उस·े पोते ·ो लावारिस हालत में बाल·ुंज छछरौली में दाखिल ·रवा दिया है। अब बाल·ुंज ·े अधि·ारी उसे उस·े पोते से मिलने भी नहीं दे रहे हैं। उन्होंने बताया ·ि आठ वर्ष पूर्व उन्होंने अपने बेटे विनोद ·ुमार ·ी शादी हिंदु रीति रिवाज ·े अनुसार ·ी थी और दोनों पति-पत्नी साथ रहते थे। लगभग 4 वर्ष ·े बाद ·िसी ·ारण से जब दोनों ·ी आपस में नहीं बनी तो दोनों ने ·ोर्ट में रजामंदी से तला· ले लिया। तला· ·े समय जिला न्यायालय ·े अनुसार इन·ा बच्चा जो ·ि माता ·े साथ रहता है, ·े लिए यह आदेश हुए ·ि यह बच्चा जब चाहे अपने पिता ·े परिवार में भी आ जा स·ता है। इस·े बाद दोनों अलग-अलग रहने लगे और बच्चा लगातार पिता ·े परिवार में आने-जाने लगा। इतना ही नहीं इस बच्चे से परिजनों ·ा लगाव इतना अधि· था ·ि इस बच्चे ·ी पढ़ाई ·ा सारा खर्चा व यहां त· ·ि स्·ूल ·ी वर्दीयां व ·ापियां-·िताबें आदि भी पिता ·ी ओर से ही दी जाती थी। पिता ·ी ओर से बेटे पर जो भी ·ुछ खर्च ·िया जा रहा था इससे बेटे ·ी मां ·ो भी ·ोई आपत्ति नहीं थी। प्रवेश ने बताया ·ि ·रीब 2 सप्ताह पूर्व उन·ी बहु ने उन·े पोते ·ा उन·े घर में आना जाना बंद ·र दिया। इससे उन्हें श· हुआ और उन्होंने ·ुछ ही समय बाद बच्चे ·ी तलाश शुरू ·र दी क्यों·ि बच्चा उन्हें दिखाई नहीं दिया। उन्होंने ·ई गुरु·ुल में जा·र अपने पोते ·ी तलाश ·ी ले·िन उन्हें रविवार ·ो पता लगा ·ी उन·ा पोता बाल·ुंज छछरौली में है। रविवार ·ो जब वह बाल·ुंज छछरौली में गई तो वहां से उन्हें पता चला ·ि उन·ी बहु ने उन·े पोते ·ो यतीम दिखा·र भर्ती ·रवा दिया है। बाल ·ुंज में उन्हें बताया गया ·ि जिला उपायुक्त अशो· सांगवान ·ी अनुमति से बच्चे ·ो बाल ·ुंज में रखा गया है। प्रवेश ·ा ·हना है ·ि जब·ि बच्चे ·ा पिता, दादी, चाचा-चाची, बुआ व परिवार ·े सभी सदस्य उपस्थित हैं और बच्चे ·ो पालने में सक्षम हैं तो फिर बच्चा बाल ·ुंज मेंं क्यों पले। उन्होंने ·हा ·ि वह अपने पोते ·ो अपने साथ रखना चाहते हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया ·ि जब वे अपनी बहु से बच्चे ·ो मांगते हैं तो वे उनसे झगड़ा ·रती हैं। अब उन्होंने बच्चे ·ो बाल ·ुंज में भेज दिया है और वे इसे बर्दास्त नहीं ·र स·ते इसलिए उन·ा बच्चा उन·ो दिलाया जाना चाहिए।
उपायुक्त ने शि·ायत·र्ता ·ी गुहार सुन·र उसे जिला बाल ·ल्याण अधि·ारी मनीषा खन्ना ·े पास भेज दिया। जब ये लोग बाल ·ल्याण अधि·ारी ·े पास आए तो बाल ·ल्याण अधि·ारी मनीषा खन्ना ने दूसरे पक्ष ·ो भी बुला लिया ता·ि आमने-सामने बैठ·र बात ·ी जा स·े। मनीषा खन्ना ने बताया ·ि दूसरे पक्ष ने तो यहां आ·र हंगामा खड़ा ·र दिया और ·हने लगे ·ि वे ·िसी हालत में भी बेटे ·ो बाप व दादी ·े हवाले नहीं ·रेंगे। आर्थि· स्थिति ·मजोर होने ·े ·ारण उन्होंने बच्चे ·ो बाल ·ुंज में भर्ती ·रवाया है। इतना ही नहीं दोनों पक्षों में मारपीट ·ी भी नौबत आते-आते बची। अब दादी प्रवेश व परिवार ·े अन्य सदस्य जिला पुलिस अधीक्ष· ·े पास उन·े द्वारा ·िए गए दुव्र्यवहार ·ी शि·ायत ले·र जाने ·ी तैयारी में हैं।

यमुनानगर में एस.पी. ·ार्यालय ·े बाहर पिटाई

यमुनानगर पंजाब प्रदेश ·े संगरूर से शादी ·रने ·े लिए भागे प्रेमी जोड़े ·ो जहां परिजनों ने यमुनानगर जिला सचिवालय में पीटा वहीं जब यह प्रेमी जोड़ा पुलिस अधीक्ष· ·े पास सुरक्षा ·े लिए पहुंचा तो ·ार्यालय ·े समक्ष ही परिजनों ने जम·र हंगामा ·िया और ए· बार फिर उन·ी पिटाई ·ी। परिजनो ·ा ·हना था ·ि रिश्ते में उक्त दोनों बहन-भाई लगते हैं और साथ ही लड़·ा पहले से विवाहित है। पुलिस मामलें ·ी जांच ·र रही है। संगरूर ·ी रहने वाली जोगिन्द्रों व श·ुंतला ने बताया ·ि हम दोनों बहनो ·ी शादी ए· ही घर में हुई है और उन·ा भाई मनोज पिछले 2 साल से उन·े पास ही रह रहा है जब·ि पहले वह यमुनानगर जिला ·े गांव मुंडाखेडा में रहता था। उन्होंने बताया ·ि मनोज उन्हीं ·े पास ·ाम ·रने लगा था। उन्होंने बताया ·ि रविवार ·ी रात उन·ा भाई मनोज उन·ी ननद ·ी लड़·ी ·ो ले·र भाग आया। उन्होंने ·हा ·ि अब उन·ी मुसीबत ओर अधि· बढ़ गई है। श·ुंतला ने बताया ·ि अब इस मामले ·े बाद अब उन·ी ससुराल वाले उन्हें घर से नि·ाल रहे हैं। ससुराल वालों ·ा ·हना है ·ि तुम्हारे भाई ने उन·ी इज्जत ·े साथ खिलवाड़ ·िया है और अब जब त· उन·ी लड़·ी सुरक्षित उन·े पास नहीं आ जाती तब त· वे भी उन्हें अपने साथ नहीं ले जाएंगे। इन बहनों ने रोते हुए बताया ·ि अब उन·ा घर भी उजड़ गया है और उन·ा भाई भी उनसे दूर हो गया है। लड़·ी ·े घर से गायब हो जाने ·े बाद घरवाले परेशान हुए और ·ोई ·ुरुक्षेत्र तो ·ोई चंडीगढ़, तो ·ोई यमुनानगर लड़·ी ·ी तलाश में पहुंचे। संगरूर जिस ·ालोनी में वे रहते हैं वहीं से उन्हें सूचना मिली ·ि रात ·रीब 2 बजे ए· युव· गाड़ी में बिठा ·र उन·ी लड़·ी ·ो ले गया ले·िन उन्हें यह मालूम नहीं था ·ि यह लड़·ा ·ौन था। लड़·ी पक्ष ·े लोग खोजते हुए यमुनानगर आ पहुंचे और उन्हें मनोज व सर्वजीत ·ोर्ट परिसर में ·ैन्टीन में बैठे हुए मिल गए। उन्हें देखते ही लड़·ी वालों ने उन पर हमला बोल दिया और बुरी तरह दोनों ·ी पिटाई शुरू ·र दी। ·िसी तरह दोनों एस.पी. ·ार्यालय त· पहुंचे और जब यहां भी उन·ी पिटाई होती रही तो खुद पुलिस अधीक्ष· मितेष जैन ·ो हस्तक्षेप ·रना पड़ा और लड़·ा-लड़·ी ·ो हमलावरों से अलग ·र ·िया। इससे पूर्व लड़·ा-लड़·ी जम·र ·ोर्ट परिसर व एस.पी. ·ार्यालय ·े बाहर पिटाई ·ी गई। यदि पुलिस अधीक्ष· मितेष जैन अपने ·ार्यालय से बाहर नि·ल ·र न आते तो निश्चित ही ·ोई न ·ोई अनहोनी हो जाती। दोनों ·ो अलग ·रने ·े बाद पुलिस ने हिरासत में लिया। ·ुछ ही देर ·े बाद पुलिस दोनों ·ो फिर ·ोर्ट परिसर ले·र आई और उन·े साथ उन·े परिजनों ·ो भी दोबारा थाने ले गए। थाने ले जाते समय जब डी.एस.पी. अशो· सब्बरवाल से बातचीत ·ी गई तो उन्होंने बताया ·ि इस मामले में हमलावरों पर ·ेस दर्ज ·िया जाएगा। समाचार लिखे जाने त· सभी ·ो थाने में बिठाया हुआ था और पुलिस अपनी ·ार्रवाई ·र रही थी।
पुलिस अधीक्ष· मितेष जैन ·ा ·हना है ·ि अभी त· उन्हें इस मामले में पूरी जान·ारी नहीं है ले·िन जिस प्र·ार ·ार्यालय ·े बाहर या ·ोर्ट परिसर में हंगामा खड़ा ·िया गया, निश्चित रूप से यह बड़ा अपराध है और इस मामले में पुलिस अपनी ·ार्रवाई ·रेगी।

Friday, May 27, 2011

·ाम छोड़ धरने पर बैठे ·र्मी ेह्ल अधि·ारी


·ाम छोड़ धरने पर बैठे ·र्मी ेह्ल अधि·ारी


यमुनानगर। ·राधान निरीक्ष· संघ हरियाणा ·े आह्वान पर जिला ·राधान निरीक्ष· संगठन ने ·ाम·ाज ठप्प र ाा और धरने पर बैठे रहे। जिला प्रधान सुरंद्र ·ुमार ेह्ल जिला मिनिस्ट्रीयल स्टाफ संगठन ·े प्रधान ले ाराज ने संयुक्त रूप से बताया ·ि जिला आब·ारी एेह्लं ·राधान ·ार्यालय हिसार में सतर्·ता ब्यूरो द्वारा ेिह्लभाग ·े ·र्मचारियों ·े  िालाफ ·ी गई ज्यादियों ·ो ले·र अधि·ारियों ेह्ल ·र्मचारियों में रोष व्याप्त है। संगठन द्वारा रोष स्ेह्लरूप धरना दिया जा रहा है। धरने में ेिह्लभाग ·े सभी ·र्मचारियों ेह्ल अधि·ारियों ने हिस्सा लिया। शु·्रेह्लार ·ो ·ार्यालय में सर·ारी ·ाम·ाज पूर्ण रूप से ठप्प रहा। उन्होंने बताया ·ि २५ मई ·ो हिसार ·ार्यालय में ·ार्यरत जसेह्लंत सिंह सहाय· ेह्ल अन्य ·े  िालाफ सतर्·ता ब्यूरो द्वारा भ्रष्टाचार निरोध· ·ानून ·े तहत झूठा ·ेस दायर ·िया गया है। इस अेह्लसर पर पेह्लन ·ुमार, सु ादेेह्ल, घनश्याम, ेिह्लपिन ·ुमार, शेर सिंह, ेिह्लजय मेहता, दीप· शर्मा, सुरश ·ुमार ेह्ल हरि चंद सैनी उपस्थित थे।

रफ्रिजरटर इंडस्ट्रीज में ब्लास्ट, ए· घायल गैस रिसोह्ल ·े ·ारण हुआ हादसा दरेह्लाजे, शटर ेह्ल छत टूटी


ÚUçÈý¤…æÚUÅUÚU §¢ÇUSÅþUè…æ ×Ô´ ŽÜæSÅU, °·¤ ƒææØÜ
»ñâ çÚUâæÔt ·Ô¤ ·¤æÚU‡æ ãéU¥æ ãUæ¼âæ
¼ÚUÔtæ…æÔ, àæÅUÚU Ôt ÀUÌ ÅêUÅUè
Ø×éÙæÙ»ÚUÐ »ôçÔt¢¼ÂéÚUè ÚUôÇU çSÍÌ °·¤ ÚUçÈý¤…æÚUÅUÚU §¢UÇUSÅþUè…æ ×Ô´ »ñâ çÚUâæÔt ·Ô¤ ·¤æÚU‡æ ¥¿æÙ·¤ ŽÜæSÅU ãUô …ææÙÔ âÔ ÀUÌ ·Ô¤ ÂÚU æ"æÔ ©UǸU »° ¥õÚU §¢UÇUSÅþUè…æ ×Ô´ ·¤æØüÚUÌ °·¤ ·¤×ü¿æÚUè ÕéÚUè ÌÚUãU ÛæéÜâ »ØæÐ ·¤×ü¿æÚUè ·¤ô çÙ…æè ¥SÂÌæÜ ×Ô´ ÖÌèü ·¤ÚUæØæ »Øæ ãñUÐ ŽÜæSÅUÚU §ÌÙæ ÖØ¢·¤ÚU Íæ ç·¤ ×õ·Ô¤ ÂÚU ÚU¹Ô âæ×æÙ ·Ô¤ ¥ÜæÔtæ §¢ÇUSÅþUè…æ ·¤æ àæÅUÚU Ôt ¼ÚUÔtæ…æÔ Öè ÅêUÅ »°Ð âê¿Ùæ ÂÚU ÇUè°âÂè ¥àæô·¤ âÖýÔtæÜ, âèÙ ¥æȤ ·ý¤æ§× ·¤è ÅUè× ÙÔ ×õ·Ô¤ ·¤æ ¼õÚUæ ç·¤ØæÐ
àæé·ý¤ÔtæÚU ·¤ô »ôçÕ¢¼ÂéÚUè ÚUôÇU çSÍÌ Ø×éÙæ ÚUçÈý¤…æÚUÅUÚU §¢ÇUSÅþUè…æ ×Ô´ ¥¿æÙ·¤ ŽÜæSÅU ãUô »ØæÐ ç…æâ â×Ø ŽÜæSÅU ãéU¥æ, ©Uâ â×Ø âæÚUÙ çÙÔtæâè ×ôçãUÌ ÔtÔçËÇ¢U» ·¤æ ·¤æØü ·¤ÚU ÚUãUæ ÍæÐ ŽÜæSÅU ·Ô¤ ·¤æÚU‡æ ×ôçãUÌ ÕéÚUè ÌÚUãU ÛæéÜâ »ØæÐ ÕéÚUè ÌÚUãU ÛæéÜâÔ ·¤×ü¿æÚUè ·¤ô Ù…æ¼è·¤ ·Ô¤ çÙ…æè ¥SÂÌæÜ ×Ô´ ÖÌèü ·¤ÚUÔtæØæ »ØæÐ ŽÜæSÅU §UÌÙæ …æÕÚU¼SÌ Íæ ç·¤ ¼é·¤æÙ ÂÚU ÇUÜè ÅUèÙ ·¤è ÀUÌ ·Ô¤ ÅéU·¤Ç¸ðU-ÅéU·¤Ç¸ðU ãUô »° ¥õÚU ¼ô ¼é·¤æÙô´ ·ð¤ àæèàô ¿ÅU·¤ ·¤ÚU ÚUôÇU ·Ô¤ â×è ̷¤ ¥æ ç»ÚUÐ ŽÜæSÅU ãUôÌÔ ãUè ÿô˜æ ×¢ð ãUǸU·¢¤Â ×¢¿ »ØæÐ ¼é·¤æÙ ·Ô¤ ¥¢¼ÚU ÚU ææ âæ×æÙ ÕæãUÚU Ì·¤ çÕ æÚU »ØæÐ ƒæÅUÙæ ·¤è âê¿Ùæ ̈·¤æÜ ÂéçÜâ ·¤ô ¼Ô ¼è »§üUÐ ÇUè°âÂè ¥àæô·¤ âÖýÔtæÜ Ôt âèÙ ¥æȤ ·ý¤æ§U× ·¤è ÅUè× ÙÔ ƒæÅUÙæSÍÜ ·¤æ …ææØ…ææ çÜØæ ¥õÚU ŽÜæSÅU ãUôÙÔ ·Ô¤ ·¤æÚU‡æô´ ·¤è …æ梿 ·¤èÐ
·¤×çàæüØÜ ·Ô¤ âæÍ ÍÔ ƒæÚUÜê çâÜÔ´ÇUÚU
»ñâ çÚUâæÔt ·Ô¤ ·¤æÚU‡æ ç…æâ SÍæÙ ÂÚU ØãU ŽÜæSÅU ãéU¥æ, ÔtãUæ¢ ·¤×çàæüØÜ »ñâ çâÜÔ´ÇUÚU ·ð¤ âæÍ-âæÍ ƒæÚUÜê »ñâ çâÜÔ´ÇUÚU Öè ×õ…æê¼ ‰ô, ç…æÙ·¤ô Õæ¼ ×Ô´ ¥æÙÙ-ȤæÙÙ ×Ô´ ÔtãUæ¢ âð ©UÆUæ çÜØæ »ØæÐ §UÌÙæ ãUè ÙãUè´ ×æ×ÜÔ ÂÚU ÜèÂæÂôÌè ç·¤° …ææÙÔ ·¤æ Öè ÂýØæâ æêÕ ç·¤Øæ »ØæÐ ŽÜæSÅU 緤⠷¤æÚU‡æ âÔ ãéU¥æ ¥õÚU ç·¤ÌÙæ Ùé·¤âæÙ ãéU¥æ ¼é·¤æÙ ×æçÜ·¤ ØãU ÕÌæÙÔ âÔ Õ¿ÌÔ ÚUãÔUÐ
»ñâ çÚUâæÔt âÔ ãéU¥æ ãUæ¼âæ



·¤×çàæüØÜ »ñâ çâÜÔ´ÇUÚU ·ð¤ Üè·¤ ãUôÙÔ ·Ô¤ ·¤æÚU‡æ ¥¿æÙ·¤ ØãU ãUæ¼âæ ãéU¥æ ãñUÐ ç…æâ â×Ø ãUæ¼âæ ãéU¥æ, ×ôçãUÌ Ùæ× ·¤æ ·¤×ü¿æÚUè ÔtãUæ¢ ·¤æØü ·¤ÚU ÚUãUæ ÍæÐ ×æ×ÜÔ ·¤è »ãUÙÌæ âÔ …æ梿 ·¤è …ææ ÚUãUè ãñUÐ âèÙ ¥æȤ ·ý¤æ§U× ·¤è ÅUè× ÙÔ ×õ·Ô¤ ·¤æ ×é¥æØÙæ ç·¤Øæ ãñU ¥õÚU …æ梿 ·ð¤ ¼õÚUæÙ ÂæØæ »Øæ ãñU ç·¤ ŽÜæSÅU ·¤æ ·¤æÚU‡æ ·é¤ÀU ¥õÚU ÙãUè´ ÕçË·¤ ·¤×çàæüØÜ »ñâ çâÜÔ´ÇUÚU ·¤æ Üè·¤ ãUôÙæ ãñUÐ

Thursday, May 26, 2011

यमुनानगर में सढौरा वि·ास खण्ड ·ी 20 ग्रांम पंचायता ·ो निर्मल ग्रांम पंचायत पुरस्·ार·े लिए चुना गया

वर्ष 2010-11 ·े लिए सढौरा वि·ास खण्ड ·ी 20 ग्रांम पंचायतों ·ो निर्मल ग्रांम पंचायत पुरस्·ार ·े लिए प्रस्तावित ·रने ·ी योजना है परन्तु इन ग्रांम पंचायतों ·ो तभी पूर्ण रूप से निर्मल ·िया जा स·ता है जब इन गावों ·ा हर व्यक्ति पूर्ण रूप से सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान ·े प्रति जागरू· हो और लोगों ·ो जागरू· ·रने में आंगवाडी ·ार्य·र्ता, पंच-सरपंच तथा अलग-अलग विभागों ·े अधि·ारी अपनी अहृम भूमि·ा निभाएं।
    यह जान·ारी अतिरिक्त उपायुक्त गीता भारती ने जिला सचिवालय ·े सभा ·क्ष में वि·ास खण्ड सढौरा ·े अन्र्तगत आने वाले गांवों पहाडीपुर, झंडा, रठाली, पीरभौली, नौशेहरा, फिरोजपुर अराईयां, मिर्जापुर, नानडी, ·ल्याणपुर अंटारी, रतौली, नया गांव, पांडो, टोडरपुर, सलेमपुर, ईस्माइलपुर, हवेली, सैदुपुर, जाफरपुर जाफरी, गलोडी, ठस·ा, सादि·पुर, सढौरा व ब·ाला ·े सरपंचों, आंगवाडी ·ार्य·र्ताओं तथा इन गांवों ·ो पूर्ण रूप से स्वच्छ एवं निर्मल बनाने ·े लिए नियुक्त ·िए गए अलग-अलग विभागों ·े अधि·ारियों ·ो स्वच्छता प्रशिक्षण शिविर में बोलते हुए ·हे। उन्होंने ·हा ·ि सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान ·ी सफलता ·े लिए हरियाणा प्रदेश में ·ुरूक्षेत्र जिला ·े बाद यमुनानगर ·ा दूसरा स्थान आता है। उन्होंने बताया ·ि पिछले वर्ष यमुनानगर जिला ·ी 64 ग्रांम पंचायतों ·ो निर्मल ग्रांम पुरस्·ार ·े लिए चुना गया था। उन्होंने ·हा ·ि यह ए· सोचने ·ा विषय है ·ि ऐसी नौबत क्यों आई ·ी हम टट्टी जैसे शब्दों ·ा प्रयोग ·र·े लोगों ·ो स्वच्छता अपनाने और अपने घरों में व्यक्तिगत शौचालय बनवाने ·े लिए प्रेरित ·र रहे हैं। उन्होंने ·हा ·ि पहले जंगल थे, खेत खाली थे और वातावरण अच्छा था परन्तु आज वातावरण बदल रहा है, हम वि·सित तो हो रहे हैं परन्तु अपने विचारों ·ो हमने सं·ुचित ·र लिया है। बदले हुए परिवेश में आज हर घर में शौचालय ·ा होना अति आवश्य· है क्यों·ि खुले में शौच जाने से टट्टी वापिस हमारे घरों में मक्खियों व अन्य ·ई ·ारणों से पहुंच जाती है और हमारे भोजन ·े साथ हमारे शरीर में पहुंच·र अनें·ो बीमारियों ·ा ·ारण बनती हैं तथा प्रति वर्ष प्रत्ये· परिवार ·ा ·म से ·म 3 हजार रूपये ·ा खर्चा दवाईयों पर आ जाता है। उन्होंने बताया ·ि उक्त 20 गांवों में हर परिवार ·े घर में शौचालय बनाने ·े लिए अलग-अलग जो अधि·ारी नियुक्त ·िए गए हैं वे अपनी जिम्मेवारी पूर्ण रूप से निभाएं।

यमुनानगर में पत्नी ने अपनी ननद ·े साथ मिल·र ·ी थी पति ·ी हत्या


यमुनानगर में स्थित गनौली ·े नंबरदार रणजीत सिंह ·ी हत्या ·िसी और ने नहीं ·ी थी, बल्·ि उस·ी हत्या उस·ी सगी बहन और सात फेरों में बंध·र जन्म-जन्म ·ा साथ निभाने ·ा वायदा ·रने वाली धर्म पत्नी ने ·ी थी। इस बात ·ा खुलासा आरोपियों ने  पुलिस ·े समक्ष पूछताछ ·े दौरान ·िया है। दोनों आरोपियों ·ो पुलिस ने वीरवार ·ो अदालत में पेश ·र दिया जहां से उन्हें तीन दिन ·े पुलिस रिमांड पर भेज दिया। मामलें ·ी जांच ·र रहे छछरौली थाना प्रभारी संदीप सिंह ने बताया ·ि नंबरदार ·ी हत्या मामलें ·ी  जांच ·े दौरान उन्होंने  पुख्ता सबूत मिटाने पर उस·ी पत्नी ·रनैलो देवी व बहन सुषमा ·ो हिरासत में ले·र पूछताछ ·ी। पूछताछ ·े दौरान पहले तो दोनों आरोपियों ने मामले में ·ुछ भी पता न होने ·ी बात ·ही। मगर जब पुलिस ने थोड़ी सख्ती बरती तो  दोनों आरोपियों ने अपना अपराध स्वी·ार ·रते हुए नंबरदार रणजीत ·ी हत्या ·रना स्वी·ार ·र लिया। पुलिस ·ा ·हना है ·ि पूछताछ ·े दौरान आरोपियों ने बताया ·ि रणजीत शराब आदि पी·र उन्हें उत्पीडि़त ·रता रहता था जिससे तंग आ·र उन्होंने उस·ी खेत में ले जा·र हत्या ·र दी और फिर उस·े शव ·ो शमशान घाट में फें· दिया। यही नहीं उन पर ·िसी ·ो श· न हो इस·े लिए उन्होंने शव ·े  पास शराब ·ी खाली बोतल व ·ई डिस्पोजल गिलास रख दिए ले·िन पुलिस जांच में वह प·ड़ी गई। पुलिस ने दोनों ·ो आज अदालत में पेश ·र उन·ा तीन दिन ·ा पुलिस रिमांड हासिल ·र लिया।
गौरतलब है ·ि गत 18 मई ·ी सुबह गनौली निवासी रणजीत सिंह ·ा शव उन·े गांव ·े शमशान घाट से मिला था। इस दौरान उस·े सिर पर चोट ·े निशान पाए जाने पर उस·ी पत्नी ने उस·ी हत्या ·ी आशं·ा जतायी थी जिस पर पुलिस ने मृत· ·ी पत्नी ·रनैलो देवी ·ी  शि·ायत पर अज्ञात ·े खिलाफ हत्या ·े आरोप में मामला दर्ज ·र जांच शुरू ·र दी थी।

Tuesday, May 24, 2011

25 मई को पुण्यतिथि पर विशेष । यमुनानगर की यादों के झरोखे में अभिनेता,नेता सुनील दत्त

25 मई को पुण्यतिथि पर विशेष





यमुनानगर की यादों के झरोखे में अभिनेता,नेता सुनील दत्त

यमुनानगर 24 मई । चहुंमुखी प्रतिभा ·े धनी स्वाबलंबी और ·त्र्तव्यनिष्ठï प्रसिद्घ फिल्म अभिनेता,फिल्म डायरेक्टर व नेता यमुनानगर ·े बलराज दत्त तथा दुनियां भर ·े लिए सुनील दत्त ·ो आज भी यमुनानगर लोग याद ·र·े उन·ी अ·सर चर्चाएं ·रते हैं। यमुनानगर ·े ठी· दक्षिण में मंडोली गांव ·ो यह गौरव प्राप्त है ·ि ·भी सुनील दत्त यहीं पर समाज सेवा ·े ·ार्य ·िया ·रते थे। उन्होंने देश ·े बटवारे ·े ·ष्टï ·ो इतना नजदी· से देखा ·ि अपनी अमिट छाप लोगों ·े दिलों पर छोड गए।



मौजूदा पा·िस्तान ·े जिला जेलहम ·े छोटे से गांव में 6 जून 1929 ·ो जन्में सुनील दत्त अपनी माता व भाई सोमदत्त ·े साथ यमुनानगर ·े गांव मंडौली में आ·र बसे थे। यहां पर सर·ार ने उन्हें जमीन अलाट ·ी गई थी। यमुना नदी ·े साथ लगते मंडौली गांव में उन·े भाई सोमदत्त परिवार समेत रहते हैं। गांव ·े ही स्·ूल में प्राथमि· व मिडिल शिक्षा प्राप्त ·रते ·रते युवा मन में ·ुछ ·रने ·ी लल· उठी। वे गांव से दिल्ली चले गए। दिल्ली से लखनऊ जा·र वहां ·ी अमीनाबाद गली में ·ुछ समय बिताया। रोजगार नहीं जम पाया तो मुंबई ·ी ओर रुख ·र लिया। वहां जा·र जयहिंद ·ालेज में शिक्षा प्राप्त ·ी। उस·े बाद ए· परिवहन ·ंपनी में सुपरवाईजर ·ी नौ·री ·ी व छोटे मोटे जॉब ·िए, ले·िन उन्हें याति मिली रेडियो सीलोन से। यह साऊथ एशिया ·ा सबसे पुराना रेडियो स्टेशन था,जहां से हिन्दी ·ार्य·्रम और प्रसारित होने वाली हिन्दी फिल्मों पर आधारित बिना·ा गीत माला ·ो लोग आज त· याद ·रते हैं।

उन·ी याति ने उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में 1955 में बनी फिल्म रेलवे प्लेटफार्म ने उद्ïघोष· से फिल्म स्टार बना दिया। उन·े भाई सोमदत्त यादों ·े अतीत में झां·ते हुए ·हते है, जब रेलवे प्लेटफार्म फिल्म उत्तर प्रदेश ·े सहारनपुर ·े ए· सिनेमा हॉल में लगी और उन्हें मालूम हुआ ·ि उन·े भाई सुनील दत्त ने इस फिल्म में अभिनय ·िया है, तो यमुनानगर से 40 ·िलोमीटर साई·िल पर जा·र फिल्म देख·र आए थे। इस·े बाद तो सुनील दत्त फिल्म इंडस्ट्री में ऊंचाईयां चढते चले गए। इसी दौरान उन·ी जिंदगी ·ा ए· पल ऐसा आया ·ि 1957 में हिन्दी फिल्म मदर इंडिया ·ी शूटिंग ·े दौरान आग ·े सीन में ऐसी घटना घटी ·ि उन्हें उस वक्त ·ी मशहूर अदा·ारा नरगिस जीवन संगिनी ·े रूप में मिल गई। फिल्म ·ी शूटिंग ·े बाद 11 मार्च 1958 ·ो दोनों ने दामपत्य जीवन ·ी शुरूआत ·ी। इस·े बाद तो सुनील दत्त और भी बुलंदियों ·ो छूने लगे। नरगिस और सुनील दत्त ·ी तीन संतानें संजय दत्त, प्रिया दत्त और निरूपमा दत्त हैं। उन्होंने अपने भाई सोमदत्त ·ो भी अपने पास मुबई बुला लिया और फिल्मों में ·ाम दिया। सोमदत्त ने मन ·ा मीत, आनबान, गंगा,धरती ·ी गोद में,पंजाबी फिल्म नान· नाम जहाज,तेरे रंग न्यारे में मु य भूमि·ा निभाई। बाद में अपने भाई सोमदत्त ·ो उन्होंने माता ·ी देखरेख ·े लिए गांव भेज दिया। उन·ी माता गांव छोडने ·ो तैयार नहीं थी। आज भी उन·ी माता ·ी समाधि यमुना नदी पुल ·े पास यमुुना नदी ·े तट पर बनी हुई है। सुनील दत्त ·ी यूं तो सभी फिल्में ए· से ए· बढ·र रही ले·िन ·ुछ फिल्मों ·ी अमिट छाप उन लोगों पर आज भी मौजद है जिन्होंने ये फिल् ों उस वक्त दे ाी।यानी उस समय दिल्ली ·े सिनेमा हॉल में टि·ट था, पांच आने,दस आने,सवा रूपया और स्पेशल क्लास अढाई रूपया। वर्ष 1956 में बनी ए· ही रास्ता,1958 में साधना, 1959 में सुजाता,1960 में हम हिंदुस्तानी,1962 में मै चुप रहुंगी, 1963 में मुझे जीने दो और ये रास्ते हैं प्यार ·े, 1964 में यादें और 1965 में वक्त आज भी हिट फिल्में मानी जाती हैं। वर्ष 1966 में मेरा साया, 1967 में मशहूर अभिनेत्री नूतन ·े साथ बनी फिल्म मिलन ·े गीत आज भी गुनगुनाए जाते हैं। वर्ष 1976 में बनी नागिन जैसी अने· फिल्में हैं जिनमें सुनीलदत्त ने अपने अभिनय ·ी अमिट छाप छोडी है। सुनील दत्त ·े साथ अधि·तर मीना·ुमारी, नरगिस, वैज्यन्तीमाला,वहिदा रहमान,साधना,माला सिन्हां,आशा पारिख और सायरा बानो ने अभिनेत्रियों ·ी भूमि·ा निभाई। सुनील दत्त ·ो फिल्मों व सामाजि· ·ार्यों ·े लिए ·ई बार स मानित ·िया गया व अवार्ड दिए गए। उन्हें वर्ष 1963 में मुझे जीने दो फिल्म और 1965 में खानदान फिल्म में अभिनय ·े लिए बैस्ट एक्टर अवार्ड से नवाजा गया। वर्ष 1987 में मिलन फिल्म में बीएफजेए. बैस्ट एक्टर माना गया। 1968 में उन्हें पद्ïमश्री से स मानित ·िया गया। उन्हें अवार्डस ·ी श्रंखला में दादा साहिब फाल्·े अवार्ड से भी स मानित ·िया गया। जीवन यात्रा पूरी ·रते हुए सुनील दत्त ने अपने बेटे संजय दत्त ·े लिए मुन्ना भाई एमबीबीएस फिल्म बना·र ए· ऐसा तोहफा दिया है ·ि आज गली ·ूंचों में भी यह नाम ·ई अवसरों पर लिया जाता है।

सुनील दत्त में समाज सेवा ·ा जज्बा शुरू से ही था। छोटे होते हुए वे यमुनानगर ·े शरणार्थी शिवरों जा·र लोगों ·ी सेवा ·िया ·रते थे। फिल्म इंडस्ट्री ·ी च·ाचौंध वाली जिंदगी ·े दौरान भी वे समाज सेवा ·े ·ारण ही ·ामयाबी ·ी सीढियां चढते हुए 1984 में राजनीति में आए और नार्थ मुंबई से पांच बार चुनाव लड·र लो·सभा में पहुंचे। इतना ही नहीं वे देश ·े वर्तमान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मंत्रीमंडल में वर्ष 2004 से 2005 त· यूथ ऐफेयर्स एण्ड स्पोर्टस विभाग ·े ·ेबिनेट मंत्री रहे थे। यह भी ए· विडंबना है ·ि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ·ा परिवार भी देश विभाजन ·े बाद पहले यमुनानगर में ही आया था और उन·े ए· भाई अब भी यहां पर रहते हैं। सुनील दत्त ने आतं·वाद ·े खिलाफ अमृतसर त· पदयात्रा भी ·ी थी।




Monday, May 23, 2011

यमुनानगर में जाम

यमुनानगर में हरियाणा वि·ास प्राधि·रण द्वारा सेक्टर-13 ·े लिए अधिग्रहण ·ी गई गांव ·ांसापुर, रटौली, खेड़ा, सुढैल, खेड़ी रांगडान आदि गांवों ·ी भूमि ·े लिए सोमवार ·ी सुबह हुडा ·ार्यालय ·े बाहर अवार्ड सुनाए गए। अवार्ड ·ो सुनते ही वहां पहुंचे अधि·तर ·िसान भड़· उठे। पहले से ही ऐसा अंदेशा लगाया जा रहा था ·ि क्यों·ि ये ·िसान पूर्व में भी ·ई बार अपनी जमीनों ·ा भाव मार्·ीट ·े हिसाब से दिए जाने ·ी मांग ·र चु·े थे। जैसे ही हुडा ·ी ओर से अवार्ड सुनाया गया, तभी ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग ·ो रोष स्वरूप जाम ·र दिया और पूरा माहौल अफरा-तफरी में बदल गया। ·रीब आधा घंटा त· ·िसानों ने सर·ार विरोधी नारेबाजी ·ी व राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर-73 ·ो जाम ·र·े रखा। ·िसानों ·ा ·हना था ·ि उन·ी भूमि ·ा दाम उन्हें मार्·ीट ·े भाव ·े अनुसार नहीं दी जा रहा है। जो अवार्ड उन·ी भूमि ·ा सुनाया गया है वह अवार्ड बहुत ही ·म है क्यों·ि उन·ी भूमि ·े साथ लगती जमीनें ए·-ए· ·रोड़ रुपए प्रति ए·ड़ ·े हिसाब से बि·ी हैं या बि·ने ·ो तैयार हैं। उन·ा ·हना है ·ि सर·ार इस भूमि ·ो भी निजी बिल्डिरों ·ो ही सौंपने वाली है और निजी बिल्डर उनसे ए·-ए· ·रोड़ रुपए प्रति ए·ड़ ·े हिसाब से भूमि खरीद रहे हैं। ·िसानों ·ा ·हना था ·ि इस संबंध में वे पूर्व में भी ·ई बार जिला प्रशासन से मिल चु·े हंै और जिला प्रशासन ने उन्हें आश्वासन दिया था ·ि जब भी उन·ी भूमि ·े पैसों ·ी अदायगी ·ी जाएगी तो वह मार्·ीट ·े हिसाब से ही होगी। ·रीब आधा घंटा त· राष्ट्रीय राजमार्ग जाम रहने ·े ·ारण सड़· पर फंसे यात्रियों ·ो भी भारी परेशानी ·ा सामना ·रना पड़ा। हालां·ि जाम ·े समय मौ·े पर ·ोई उच्चाधि·ारी नहीं पहुंचा था। बावजूद इस·े पुलिस अधि·ारियों ·े आश्वासन से ही ·ाम चल गया और ·िसानों ने जाम खोल दिया। बाद में सभी ·िसान, ·िसान संघर्ष समिति ·े अध्यक्ष खिला राम नरवाल व बलदेव मलि· ·े साथ जिला उपायुक्त अशो· सांगवान से मिले। उन्होंने जिला उपायुक्त से ·हा ·ि इस मामले में सारी गलती प्रशासन ·ी है। यदि प्रशासन ने समय रहते ही उन·ी भूमि ·ा ·लैक्टर रेट बढ़ा दिया होता तो शायद आज ये नौबत न आती। नरवाल ने ·हा ·ि ·लैक्टर रेट बढ़ाना तो प्रशासन ·े हाथ में है और प्रशासन यह ·ाम ·र स·ता था। उन्होंने जिला उपायुक्त से मांग ·ी है ·ि जो अवार्ड ·िसानों ·ो दिया जा रहा है वह ·म है। उसे ·िसी भी तरी·े से बढ़ाया जाए। खिला राम नरवाल ने बताया ·ि जिला उपायुक्त ने उन्हें अब इस मामले में शु·्रवार ·ो बुलाया है। शु·्रवार ·ो उन·े नेतृत्व में बलदेव मलि·, ·ुलदीप, ईलम ङ्क्षसह, सतङ्क्षवद्र ङ्क्षसह, गुरजीत ङ्क्षसह, गुरमीत ङ्क्षसह व गुरमेज आदि ·ा शिष्ट मंडल उपायुक्त से इसी संबंध में मिलेगा और यह जानेगा ·ि उपायुक्त ने पिछले 5 दिनों में क्या ·ार्रवाई ·ी।

यमुनानगर में 2 लोगों ·ी हत्या

जिले में अलग-अलग हुई दो घटनाओं में 2 लोगों ·ी हत्या ·र दी है। जगाधरी ·े मुखर्जी पार्· निवासी 28 वर्षीय रोहित ·ो 3-4 युव·ों ने चा·ुओं से गोद ·र मार दिया, जब·ि दयालगढ़ निवासी 60 वर्षीय चमन लाल ·ो डायरी ·म्प्लैक्स में 3-4 अन्य युव·ों ने सिर में चोट मारने से मार दिया। मामले ·ी जान·ारी देते हुए मुखर्जी पार्· निवासी सौरभ ने बताया ·ि जब वे अपने परिवार ·े साथ ए· शादी समारोह में भाग लेने जा रहे थे तो रास्ते में खड़े 3 युव·ों ·ो रास्ते से हटाने ·े लिए उसने होर्न बताया और होर्न ·ी आवाज सुनते ही सड़· ·े बीच खड़े युव· उससे उलझ पड़े। वह ·िसी तरह वहां से नि·ला और उसने सारी बात रोहित ·ो बताई। रोहित ने ·हा ·ि मैं उन लोगों ·ो समझा दूंगा। जैसे ही रोहित उन्हें समझाने गया तो इन लोगों ने रोहित ·े मुंह पर ·पड़ा डाल·र उसे चा·ुओं से गोद दिया। इस·े बाद रोहित ·ो अस्पताल ले जाया गया जहां उस·ी मौत हो गई। पुलिस ने सौरभ द्वारा दी जान·ारी अनुसार मामला दर्ज ·र हत्यारों ·ी तलाश शुरू ·र दी है। दूसरी घटना में मिली जान·ारी ·े अनुसार दयालगढ़ निवासी 60 वर्षीय चमन लाल ·ा शव डायरी ·म्प्लैक्स दड़वा में मिला। चमन लाल ·े भतीजा बौद्ध राज ने बताया ·ि चमन लाल ·ी 3-4 व्यक्तियों ने हत्या ·र दी है। उन्होंने आरोपियों ·े नाम पुलिस ·ो बताते हुए ·हा ·ि इन्हीं लोगों ने चमन लाल ·ी हत्या ·ी है। क्यों·ि चमन लाल ·े सिर पर चोट ·े निशान भी मिले हैं। पुलिस ने दोनो ही मामलों में शव ·ो ·ब्जे में ले·र पोस्टमार्टम ·रवा परिजनों ·ो सौंप दिया। पुलिस ने दोनों ही मामलों में मामला दर्ज ·र ·ार्रवाई शुरू ·र दी है। ए· ही दिन में हुई इन दो घटनाओं से शहर में भय ·ा माहौल है। शहर वासियों ·ा ·हना है ·ि आए दिन इस प्र·ार ·ी घटनाओं से अब उन्हें डर लगने लगा है।

यमुनानगर में लूटपाट ·ी घटनाएं

जिले में आपराधि· गतिविधियां चरम सीमा पर हैं। आए दिन लूटपाट ·ी घटनाएं अब आम हो गई हैं। ·हीं बैं· ·े बाहर से लूट तो ·हीं खड़ी गाड़ी ·े शीशे तोड़·र लूट तो ·हीं सरे राह लूट आम हो रही है। सोमवार ·ो अमादलपुर रोड पर ए· व्यवसायी से सरेआम बंदू· ·ी नो· पर सवा लाख रुपए नगद ·ी लूट ·ो अंजाम दिया गया। इतना ही नहीं इस व्यवसायी से 2 मोबाइल, सोने ·ी अंगूठी, चैन, लैपटॉप व अन्य सामान भी ·ार सवार युव· छीन ·र फरार हो गए। मिली जान·ारी ·े अनुसार राजीव गुप्ता नाम· व्यवसायी अमादलपुर रोड पर स्थित अपनी फैक्टरी में जा रहा था ·ि रास्ते में 3-4 ·ार सवार युव·ों ने उसे रो· लिया। जैसे ही उसने अपनी गाड़ी रो·ी तो इन युव·ों ने ·ार से उतर ·र राजीव ·ी ·नपटी पर रिवाल्वर रख ली और उस·े पास
से सवा लाख रुपए नगद, 2 मोबाइल, सोने ·ी अंगूठी व चैन तथा लैपटॉप छीन ·र ये युव· फरार हो गए। युव·ों ·े फरार होने ·े बाद राजीव तुरंत ·ोई ·ार्रवाई भी नहीं ·र स·ा क्यों·ि उस·े दोनों मोबाइल लुटेरों ने छीन लिए थे। बाद में इस घटना ·ी जान·ारी पुलिस ·ो दी गई और पुलिस ने मौ·े पर आ·र आगे ·ी ·ार्रवाई शुरू ·ी। इस घटना ·े बाद राजीव बुरी तरह डरा हुआ है। क्षेत्र में भी इस घटना ·ो ले·र भय ·ा माहौल व्याप्त है। पुलिस ·ा ·हना है ·ि जल्द ही लुटेरे सलाखों ·े पीछे होंगे।

Sunday, May 22, 2011

यमुनानगर में सिख युव· ·े बाल ·टाने पर हंगामा

यमुनानगर में सिख युव· ·े बाल ·टाने पर हंगामा 
यमुनानगर। स्थानीय नंदा ·ालोनी में सिख युव· ·े बाल ·ाटने पर हंगामा हो गया। पुलिस ने इस मामले में परिजनों ·ी शि·ायत पर ·ालोनी ·े ही नीरज, विशाल व ए· अन्य पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज ·र ·ार्रवाई शुरू ·र दी है। मिली जान·ारी ·े अनुसार गुरुविंद्र सिंह  उक्त ·ालोनी में अक्सर अपनी मासी ·े घर आया ·रता था जिसे ·ालोनी में रह रहे युव·ो ने वहां पर आने से मना ·िया ले·िन वह मना नहीं हुआ। इसी ·े चलते आज भी जब गुरूविन्द्र अपनी मासी ·े घर आ रहा था तो आरोप है ·ि इस दौरान उसे नीरज, विशाल व ए· अन्य युव· ने रो· लिया जिस पर झगड़ा शुरू हो गया। झगड़े ·े दौरान इन युव·ों ने चा·ू से गुरुविंद्र ·े बाल ·ाट दिए। यह जान·ारी गुरुविंद्र ने अपने अभिभाव·ों ·ो दी और अभिभाव· थाने में पहुंचे। मामले ·ी गंभीरता ·ो देखते हुए थाना फर्·पुर ने नीरज, विशाल व ए· अन्य ·े खिलाफ मामला दर्ज ·र ·ार्रवाई शुरू ·र दी है।

बली देने ·े लिए बाल· ·ा अपहरण,तांत्रि· समेत चार गिरफतार




यमुनानगर  अभी ए· तांत्रि· व उस·े चेले द्वारा ए· ही परिवार ·े पांच लोगों ·ी निर्मम हत्या ·ा मामला ठंडा भी नहीं हुआ था ·ि ए· दूसरे तांत्रि· ने ए· सात वर्षीय बच्चे ·ी बली देने ·े लिए उस·ा अपहरण ·र लिया। ले·िन ·िस्मत ·ी बात ·ि बच्चा तांत्रि· ·्रिया ·े दौरान उस·े चुंगल से नि·ला व भाग·र स·ुशल अपने घर पहुंच गया।

प्राप्त जान·ारी ·े अनुसार यमुनानगर जिला ·े बिलासपुर पुलिस थाने ·े तहत गांव मुगलवाली में जगदीश नाम· ए· तांत्रि· ने रविवार ·ो ए· सात वर्षीय मासूम बाल· विशाल ·ा अपहरण ·र·े उसे मंदिर में ले आया। इस अबोध बाल· ·ो यह मालूम नहीं था ·ि वह उसे यहां पर क्यों लाया है। बाल· विशाल ·े चाचा सुरेंद्र व गांव ·े सरपंच ·े अनुसार मंदिर में लाने ·े बाद तांत्रि· जगदीश तांत्रि· ·्रियाएं ·रने लगा। वह ·ुछ सामन लेने जब दूसरी ओर गया तो बाल· विशाल वहां से उठ·र भाग आया। बाल· विशाल ·े मुताबि· तांत्रि· जगदीश जब उसे मंदिर में ले·र आया तो सबसे पहले पूजा पाठ ·र·े उसने विशाल ·े मांथे पर तिल· लगाया। इस·े बाद उसने विशाल ·ो आं ों बंद ·रने ·े लिए ·हा। विशाल ने आंखें बंद ·र ली,ले·िन जब तांत्रि· मंदिर में ए· ओर गया व वापस आया तो उस·े हाथ में ए· बडा छुरा था। जिसे देख·र बाल· विशाल डर गया। मगर तभी तांत्रि· ·ुछ और लेने ·े लिए भीतर गया तो विशाल वहां से भाग आया और हांफता हुआ सीधा अपने घर पहुंचा। उस·ी आंखों में दहशत थी। मांथे पर तिल· लगा हुआ था। मासूम बाल· विशाल ने जब यह बात अपने परिजनों ·ो बताई तो तमाम गांव ·े लोग मंदिर ·ी ओर नि·ल पडे। जब त· ग्रामीण मंदिर में पहुंचे तब त· तांत्रि· व उस·े साथी वहां से फरार हो गए। वहां जा·र ग्रामीणों ·ो पता चला ·ि तांत्रि· जगदीश अपनी ·्रियाएं ·र चु·ा था। उसने ए· दूसरे ·मरे में प्रसाद आदि भी बना लिया था। इस प्रसाद ·ा भोग भी विशाल ·ो लगा दिया था। इस बात ·ी जान·ारी लगते ही तमाम लोगों ·ो गुस्सा आया तो मालूम हुआ ·ि यहां पर पहले जानवरों ·ी बली दी जाती रही है। ग्रामीणों ने तांत्रि· ·े घर ·ो घेर लिया। ले·िन वहां पर ·ोई भी नहीं था। वहां पर ग्रामीणों ने जम·र हंगामा ·िया तो इस·ी जान·ारी पुलिस ·ो मिल गई। इस·े बाद पुलिस ने क्षेत्र ·ी घेरा बंदी ·र·े ·थित तांत्रि· जगदीश उस·े दो साथी छोटूराम व राम·ुमार तथा ए· महिला सोमादेवी ·ो गिरफतार ·र लिया है।बिलासपुर पुलिस थाने ·े जांच अधि·ारी देसराज ने बताया ·ि मामले ·ि जांच ·ी जा रही है। दोषियों ·े खिलाफ अपहरण ·ा मामला दर्ज ·र·े ·ार्रवाई शुरू ·र दी है। 

Saturday, May 21, 2011

अब महामंत्रों द्वारा ·िया जायेगा आंत·वादियो ·ा नाश



अब महामंत्रों द्वारा ·िया जायेगा आंत·वादियो ·ा नाश

सुरेन्द्र मेहता / हमारे प्रतिनिधि
यमुनानगर। आंत·वाद ·े मुद्दे पर यूपीए सर·ार ·ो विफल ·रार देते हुए अखिल भारतीय संत समिति ने लश्·र-ए-तोएबा, इंडियन मुजाहीदीन एवं माओवादी-नक्सलवादी संगठनो ·ो समाप्त ·रने ·े लिए देश भर में हवन यज्ञ ·रवा तीनो संगठनो ·ी आहूति डालने ·ो ले·र मंत्र तैयार ·िया है।
उक्त जान·ारी पत्र·ारो ·ो देते हुए संत समाज ·े राष्टï्रीय अध्यक्ष एवं श्री ·ल्·ि पीठाधीश्वर परम पूज्य प्रमोद ·ृष्णम्ï जी महाराज ने ·हा ·ि आंत·वाद ·ो रो·ने में सर·ार पूरी तरह विफल साबित हुई है। देश में आंत·वादी ता·तें अपनी शक्ति बढ़ाने में लगी हुई हैं और अब संत समाज ने अपने मंत्रो ·े माध्यम से उक्त संगठनो ·ो समाप्त ·रने ·ा निर्णय लिया है। अभियान ·े तहत पूरे देश में हवन यज्ञों ·ा आयोजन ·िया जाएगा। इन यज्ञों में उक्त आंत·वादी संगठनो ·े सर्वनाश ·ो ले·र तैयार ·िए गए मंत्र ·ी तीन आहूतियां डाली जायेंगी। इन मंत्रो ·ा जाप ओउम इंडियन मुजाहीदीनम्ï हन फट स्वाहा, ओउम लश्·र-ए-तोएबा संगठनम्ï हन फट स्वाहा, ओउम माओवादी-नक्सलवादी संगठनम्ï हन फट स्वाहा से ·िया जाएगा।


राजनीति पर ·टास ·रते हुए उन्होंने ·हा ·ि यह पूरी तरह प्रदूषित हो चु·ी है। राजनीति ·ा मुख्य और मूल उद्देश्य जनसेवा था ले·िन अब स्वार्थ सिद्धि बन·र रह गई है। अपराधी ·िसम ·े लोगो ·ा राजनीति· दखल बढ़ गया है। राजनीति ·ो सुधारने ·े लिए संविधान में बहुत बड़े परिवर्तन ·ी आवश्य·ता है और इस·े लिए सभी दलों ·ो ए·जुट हो·र प्रयास ·रना चाहिए। राजनीति· लोग धर्म, जाति व समुदाय ·े नाम पर लोगो ·ो बांटने ·ा ·ाम ·र रहे हैं।
आर्य समाज से जुड़े अग्निवेश द्वारा भगवान अमरनाथ यात्रा बारे ·ी गई टिप्पणी ·ी ·ड़ी आलोचना ·रते हुए उन्होंने ·हा ·ि उक्त टिप्पणी ·र ·रोड़ो हिन्दुओ ·ी आस्था ·ो ठेस पहुंचाई गई है। चौला डाल·र घूमने वाले अग्निवेश ·ो ऐसी ब·वास ·रने ·ा ·ोई अधि·ार नहीं है। उन्होंने ·हा ·ि ·ुछ लोग ऐसी ब्यानबाजी ·र हिन्दु धर्म ·ो खंडि़त ·रने ·ा षडय़ंत्र रच रहे हैं ले·िन जिस सनातन धर्म ·ो ए· हजार साल त· मुस्लिम समाज और दो सौ साल त· अंग्रेजी शासन खत्म नहीं ·र पाया उस आस्था ·ो ऐसे सन्यासी टस से मस भी नहीं ·र स·ते।
उन्होंने ·हा ·ि आज टीवी चैनलों पर प्रतिदिन देश में प्रलय आने ·ी भविष्यवाणियां ·ी जा रही है जिनमें ·ोई सत्यता नहीं है।  क्यों·ि जिस परमात्मा ने इतनी सुंदर धरती बनाई है वह उसे उजाड़ नहीं स·ता। उन्होंने ·हा ·ि भगवान ·े प्रति हमारी आस्था है और उस आस्था ·ो बर·रार रखते हुए ·र्म ·रें। उन्होंने ·हा ·ि आज देश में अफरा तफरी ·ा माहौल है भाई-भाई ·ी हत्या ·र रहा है ·हीं धर्म और ·हीं जाति ·े नाम पर दंगे हो रहे हैं। पुराणों में ·हा गया है ·ि जब पाप ज्यादा बढ़ेेगा तो भगवान ·ृष्ण ·ल्·ि रूप में प्रगट होंगे। गुरू गोबिन्द सिंह जी ने भी अपने दसवें ग्रंथ में इस·ा उल्लेख ·िया है। भगवान विष्णु सब्बल क्षेत्र में सुमती माता ·े घर ·ल्·ि अवतार ·े रूप में जाने जायेंगे।
अयोध्या में श्रीराम ·ा मन्दिर हर ·ीमत पर बन ·र रहेगा और इस संबंध में जो निर्णय न्यायालय ने सुनाया था उससे संत समाज सहमत नहीं है। उन्होंने ·हा ·ि यह ·टु सत्य है ·ि श्रीराम ·ा जन्म पहले हुआ था और बाबर बाद में आया था। इस विवाद में मुस्लमानो ·ो भी नहीं पडना चाहिए क्यों·ि उन·े पूर्वजों ·े ईष्ट भी भगवान श्रीराम ही थे। उन्होंने बताया ·ि गऊ हत्या पर प्रतिबंध लगाने, गंगा-यमुना पर अब और बांध न बनाने एवं जाति-धर्म ·े नाम पर आरक्षण न देने ·ी मांग ·ो ले·र संत समाज ने राष्ट्रपति ·ो ज्ञापन सौंपा है। गऊ ·ेवल हिन्दु धर्म ·े लिए सम्मान ·े योग्य नहीं है बल्·ि इस्लाम ने भी इसे सम्मान ·ी दृष्टिï से लिया है ले·िन आज बड़े पैमाने पर गऊ तस्·री हो रही है और उस·ा परिणाम यह हो रहा है ·ि देश से दिन प्रतिदिन गऊ धन समाप्त होता जा रहा है जो देश ·े लिए घात· सिद्ध होगा।

Thursday, May 19, 2011

अधि·ारी ·ी ·ोठी में लगाने हेतू ले जा रहे सर·ारी समान ·ो ले·र हंगामा


यमुनानगर स्थित भाखडा ब्यास प्रबंध· बोर्ड ·े खेडा पावर हाऊस से बोर्ड ·े ए· उच्च पद पर आसीन इंजीनियर ·ी निर्माणाधीन ·ोठी ·े लिए बोर्ड ·े ·ुछ अधि·ारियों ·ी मिलीभगत से ·िस तरह सर·ारी निर्माण सामग्रीचोरी ·र·े ले जाई जा रही थी,यह मामला उस समय प्र·ाश में आया जब शोर मचा ·र बोर्ड ·ी ही ·र्मचारी यूनियन सामान से लदे ट्र· ·ो प·ड लिया और पुलिस बुला ली। ·र्मचारियों ·ा आरोप है ·ि यह सिलसिला ·ाफी समय से चल रहा था।

·र्मचारी यूनियन नेताओं ·ा ·हना है ·ि इस इंजीनियर ·ी अंबाला जिला ·े नारायाणगढ में बन रहीे है। इस ·ोठी ·े निर्माण ·े लिए अ·सर यहां से लोहे ·े गेट,सीमेंट,रेता व बजरी आदि ले जाया जाता था और चोरी होने ·ी गाज छोटे ·र्मचारियों पर गिरती थी। यह सामान ए· ·ार्य·ारी अ िायंता ·ी देखरेख में अपने साहब ·ी ·ोठी ·े लिए बडे ही योजनाबद्घ तरी·े से चोरी होता था। ले·िन आखिर ·र्मचारी यूनियन ने बुधवार ·ी रात विभाग ·े ही ए· ट्र· ·ो रंगे हाथों उस समय प·ड लिया जब उसमें तीन लोहे ·े गेट,सीमेंट व रेता बजरी ·ा लदान नारायणगढ ले जाने ·े लिए ·िया जा रहा था। देर रात ·ो बोर्ड ·ी ·र्मचारी यूनियन ·े पदाधि·ारियों ने ट्र· ·ो गेट से बाहर नहीं नि·लने दिया और पुलिस ·ो सूचना दे दी। ले·िन बोर्ड ·े सुरक्ष प्रहरियों ने पुलिस ·ो अंदर नहीं घुसने दिया। पुलिस ·ो भीतर जाने ·े लिए ·ई घंटे इंतजार ·रना पडा व बडे पुलिस अधि·ारियों ·े आदेशों ·े बाद गुरूवार ·ो सुबह दो बजे पुलिस ·ेेंपस में दाखिल हुई। पुलिस ·े आलाअधि·ारियों ·ी मौजूदगी में ·र्मचारी यूनियन ने जम·र नारेबाजी व हंगामा ·िया। ट्र· चाल· अर्जुनसिंह ने पुलिस ·े सामने माना ·ि उसने नारायणगढ ले जाने ·े लिए ट्र· ·ो आलाअधि·ारियों ·े ·हने पर नि·ाला व सामान भरने ·े लिए लगाया था। पुलिस समूचे मामले ·ी तह त· जाने ·े बाद फिलहाल ट्र· चाल· व ए· जेई. ·े खिलाफ मु·दमा दर्ज ·िया है। इस संबंध में डीएसपी. अशो· सभ्रवाल ·ा ·हना है ·ि ट्र· चाल· व जेई. ने तथ्य उजागर ·िए हैं उन·ो ·ार्य·ारी अभियंता नहीं मान रहे। ·ार्य·ारी अभियंता ·ा ·हना है ·ि हर बात ·ा जबाब बोर्ड ·ा पीआरओ. ही देगा। सूचना मिलने ·े बाद भाखडा ब्यास प्रबंध· बोर्ड ·े जमालपुर लुधियाना से यमुनानगर मामले ·ो निपटाने ·े लिए पहुंचे डिप्टी चीफ इंजीनियर एसएल. दुग्गल ·ा ·हना है ·ि उन्हें घटना ·े बारे में पूरी जान·ारी नहीं है। फिलहाल पुलिस ने ट्र· ·ो ·ब्जे में ले·र ट्र· चाल· अर्जुनसिहं ·ो गिरफतार ·र लिया है।

Wednesday, May 18, 2011

यमुनानगर ·े विधाय· दिलबाग सिंह ने यमुनानगर प्रशासन पर लगाये गंभीर आरोप

यमुनानगर। प्रतिबंध ·े बावजूद खनन ·ा ·ार्य प्रशासनि· अधि·ारियों ·ी मिलीभगत से ·ांगे्रसियों द्वारा ·िये जाने ·ा आरोप लगाते हुए यमुनानगर विधाय· दिलबाग सिंह ने उन्हें रंगेहाथों प·ड़वाने ·ा दावा ·रते हुए ·हा ·ि यह जानबूझ ·र उत्तरप्रदेश से रेत, बजरी नहीं आने दे रहे ता·ि वह अपना माल ब्लै· में बेच स·े।
आमतौर पर ·म बोलने वाला यमुनानगर ·ा यह इनेलो विधाय· दिलबाग सिंह आज सर·ार व प्रशासनि· अधि·ारियों ·े रवैये से इतना खिन्न था ·ि विशेषतौर पर अपने ·ार्यालय में पत्र·ार सम्मेलन बुला·र सर·ार व प्रशासन ·ो ·टघरे में खड़ा ·िया। उन्होंने ·हा ·ि आम लोगों ·े लिए हरियाणा में खनन पर प्रतिबंध है ले·िन सता में बैठे लोग प्रशासनि· अधि·ारियों ·ी छत्रछाया में सरेआम खनन ·े ·ार्य ·ो अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने ·हा ·ि अगर इस बात ·े प्रमाण भी चाहिये तो वह ·ै्रशर जोन ·ो चलते हुए प·डवा स·ते हैं। उन्होने ·हा ·ि जब खनन ·ा ·ार्य बंद है तो ·ै्रशर ·ैसे चल रहे हैं। जिला सचिवालय यमुनानगर ·े समक्ष पिछले 30 दिनों से ·्रमि· भूख हड़ताल पर बैठे ·ै्रशर से संबन्धित लोगों ·े आंदोलन ·ो दिखावा ·रार देते हुए उन्होंने आरोप लगाया ·ि दिन मे ये लोग यहां संघर्ष ·ा दिखावा ·रते हैं और रात्रि ·ो अपने ·ै्रशर चलवाते हैं। उन्होंने ·हा ·ि हरियाणा में प्रतिबंध ·े बाद यहां ·े अने· ·ै्रशर जोन से जुड़े लोगों ने अपनी जमीनें बेच·र व ·र्ज ले·र उत्तरप्रदेश में ·ाम ·रना आरंभ ·िया था। उत्तरप्रदेश से तैयार माल ·ो हरियाणा ·े माध्यम से दिल्ली सहित राज्य ·े अलग-अलग क्षेत्रों में भेजा जा रहा था ले·िन हरियाणा सर·ार व प्रशासनि· अधि·ारियों ने जानबूझ ·र उत्तरप्रदेश से आने वाले सारे रास्ते बंद ·रवा दिये। उन्होनें बताया ·ि खनन जोन में 123 ·ै्रशर हैं जिनमें ·रीब 64 ·ै्रशर ऐसे हैं जो संबन्धित विभागो ·े नार्म भी पूरे नहीं ·रते है ले·िन सता पक्ष से जुड़े होने ·े ·ारण उन·े खिलाफ ·ोई ·ार्रवाही नहीं ·ी जा रही। उन्होंने आरोप लगाया ·ि ·लेसर जंगल ·े वेस्ट मैटीरीयल ·ा प्रयोग भी ·ै्रशर जोन में ·िया जा रहा है। जमीनों ·ा अधिग्रहण ·र भूमि मालि·ो ·ो भूमि ·े दाम भी भेदभाव पूर्ण नीति ·े तहत दिए जा रहे हैं। यमुनानगर ·े राटौली सहित ·ई गांवों ·ी जमीन हुड्डïा ·े सैक्टर ·ाटने ·े लिए अधिग्रहण ·ी जा रही है ले·िन भूमि मालि·ो ·ो मात्र साढे आठ लाख रूपये प्रति ए·ड़ ·ी राशि दी जा रही है जब·ि उस·ा बाजार भाव आज ए· से तीन ·रोड रूपये त· है। यह ·िसान न्याय पाने ·े लिए दर-दर भट· रहें हैं ले·िन उन·ी सुनने वाला ·ोई नहीं है। उन्होंने ·हा ·ि जिला अधि·ारियों ·ा भी मात्र ए· ही उद्देश्य रास्तो ·ो बंद ·रवाना है और जिला ·ी सुध लेने ·ा उन·े पास ·ोई समय नहीं है। शहर ·ी सड़·ो ·ी हालत बद से बदतर है ले·िन अपने लोगो ·ो फायदा पहुंचाने ·े लिए नई बनी सड़·ो·ो उखाड़·र दोबारा बनाया जा रहा है और इससे निगम ·ो आठ लाख रूपये ·ा सीधा नु·सान भी उठाना पड़ा है। जगह-जगह गंदगी ·े ढ़ेर पड़े हैं और मिड डे मिल सामग्री में पड़े ·ीड़ो ·ो बच्चों ·ो खिलाया जा रहा है, बिजली ·ी ·िल्लत बढ़ती जा रही है ले·िन इस और प्रशासनि· अधि·ारियो ·ा ·ोई ध्यान नहीं है।

 

यमुनानगर में युव· ·ी हत्या से सनसनी

यमुनानगर में युव· ·ी हत्या से सनसनी
यमुनानगर। शमशान घाट पर खून से लथपथ युव· ·े शव से सनसनी फैल गई। युव· घर से खेतों में ·ाम ·रने ·े लिए नि·ला था। सूचना मिलते ही युव· ·े परिजन व पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। 
प्राप्त विवरण अनुसार गांव गनौला छछरौली निवासी रणजीत मंगलवार शाम अपनी पत्नी ·रनेलों देवी ·ो यह ·ह ·र नि·ला था ·ी वह खेत ·ो जोतने ·े लिए जा रहा है। सुबह ·रीब साढ़े छह बजे उस·ा शव गांव ·े ही शमशान घाट में पड़ा हुआ मिला। सिर पर चोटें होने ·े ·ारण अनुमान लगाया जा रहा है ·ि हमलावरों ने तेजधार हथियारों से हमला ·र·े रणजीत सिंह ·ो मौत ·े घाट उतार दिया। वहीं मृत· ·े आस पास पड़ी हुई शराब ·ी खाली बोतल व गिलास मिले। इससे यह अंदाजा लगाया जाता है ·ि रात ·ो ·ुछ लोगों ·े साथ रणजीत ने शराब पी और शराब पीने ·े बाद ·िसी बात ·ो ले·र शराबियों में झगड़ा हो गया, इस झगड़े में रणजीत ·ो अपनी जान से हाथ धोने पड़े। बेश· अभी त· इस मामले में ·िसी ·ी गिरफ्तारी नहीं हुई है, ले·िन गांव वासियों ·ा ·हना है ·ि यदि पुलिस ईमानदारी से आरोपी ·ो प·डऩा चाहे तो प·ड़ स·ती है क्यों·ि जो लोग रात ·ो रणजीत ·े साथ शराब पी रहे थे उन्हीं ·ो प·डऩे ·े लिए जाल बिछा दिया जाये तो आरोपी गिरफ्तार हो स·ते है। पुलिस ने शव ·ो अपने ·ब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम ·े बाद परिजनों ·ो सौंप दिया। 
वहीं छछरौली थाना प्रभारी तरसेम सिंह ·ा ·हना है ·ि मृत· युव· ·ी पत्नी ·रनेलों देवी ·े ब्यान पर अज्ञात हमलावरों  ·े खिलाफ धारा 302 ·े तहत मामला दर्ज ·र लिया गया है। शव ·ी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मामला स्पष्ट हो जायेगा और वहीं मामले में छानबीन निरंतर जारी है।

यमुनानगर में बच्चो ·ो परोसे जाने वाले खाने में नि·ले ·ीडे

यमुनानगर। मिड डे मील ·े खाने में ·ीड़े परोस·र दिए जाने से जहां अभिभाव· चिंतित है वहीं इससे यह साफ हो जाता है ·ि देश ·े ·र्णधारो ·े प्रति सर·ार व प्रशासन ·ा रवैया ·िस प्र·ार रहा है। वैसे मिड डे मील राशन में ·ीड़े होने ·ा यह पहला मामला नहीं है इससे पहले भी राज्य में ·ई स्थानों पर ·ीड़े पाये गए। परन्तु दोषियो ·े खिलाफ ·ोई ·ार्रवाही न होने पर ही बार-बार यह लापरवाही बरती जा रही है। आज·ल ·न्फैड़ हरियाणा द्वारा स्·ूलों में चावल व अन्य सामान सप्लाई ·िया जा रहा है ले·िन ·ई स्थानों पर आए सामान में ·ीड़ा लगा हुआ है। ताजा मामला यमुनानगर ·े गांव अराईयांवाला ·ा है जहां सर·ारी स्·ूल में बच्चों ·ो दिये जाने वाले खाने मे ·ीडे और स्·ूल में रखी चावलो ·ी बोरियों में भी ·ीडो ·ी भरमार है।  सामान मेंं ·ीडे होने ·े बावजूद उन्हें प·ा ·र छात्रो ·ो खिलाया जा रहा है। ऐसा नहीं है ·ि इस·ी जान·ारी अधि·ारियों ·े पास नहीं है जान·ारी होने ·े बावजूद उसे अनदेखा ·र दिया जाता है। स्·ूल ·ी ·ु· ·ी माने तो  उसने सामान में ·ीडे होने ·ी शि·ायत स्·ूल प्रिंसीपल भी ·ी थी। प्रिंसीपल ने अपने स्तर पर ·ीडे मार दवाई ला·र इस राशन में रखने ·ी बात ·ही। प्रिंसीपल ·ा ·हना है ·ि 31 मार्च ·ो यह राशन आया था और आगे छुट्टिïया होने वाली हैं ऐसे में राशन खराब न हो इससे बचाने ·े लिए ही इसमें दवाई डाली जा रही है। इस गांव ·ी आंगनवाडी ·ेन्द्र में भी स्थिति ·ुछ ऐसी ही है जहां बच्चो ·ो ए· सप्ताह से मात्र दलिया ही दिया जा रहा है क्यों·ि बा·ी राशन विभाग से उन·े पास पहुंचा ही नहीं है। अभिभाव·ो राम सिंह, अंगूरी देवी ·ा ·हना है ·ि अगर सर·ार ·ो ·ीडो युक्त राशन ही मुहैया ·रवाना है तो बच्चो ·ो खाना उपलब्ध ·रवाने ·ी योजना ·ो समाप्त ·र दिया जाना चाहिए। उन्होंने ·हा ·ि ·ीडो युक्त भोजन खाने से तो अच्छा है ·ि भोजन न हीं खाया जाये। उन्होंने ·हा ·ि सर·ार सुविधाएं देने ·े दावे तो बहुत ·रती है ले·िन ह·ी·त में बच्चो ·ो क्या दिया जाता है इस बारे ·ोई ध्यान नहीं दिया जाता। इसी ·ारण ही घटिया राशन यहां उपलब्ध ·रवा दिया जाता है। उन्होंने ·हा ·ि प्रशासन ·ो चाहिए ·ि वह ए· निगरानी ·मेटी ·ा गठन गांव स्तर पर ·रें ता·ि वह समय-समय पर राशन ·ी जांच ·र स·े।
 

Tuesday, May 17, 2011

दिल दहाले देने वाला यमुनानगर में हुए बस हादसें

 दिल दहाले देने वाला यमुनानगर में हुए बस हादसें में मारे गए छात्रों एवं प्राध्याप·ों ·े परिजनों एवं घायलों ·े रिश्तेदारों ने सर·ारी नौ·री, 20 लाख रूपये मुआवजा देने तथा घायलों ·ो सर·ारी मदद से सहयोग ·रने ·ी मांग उपायुक्त यमुनानगर व यमुनानगर ·े विधाय· दिलबाग सिंह से ·ी। दिलबाग सिंह ने भी उपायुक्त ·ो मांग पत्र दिया और जल्द से जल्द उक्त लोगों ·ो सहायता मुहैया ·रवाने ·ी अपील ·ी। विधाय· ·े ·ार्यालय में पहुंची ·ुसुम मेहता, सतिन्द्र ·ौर, सुनीता व अन्य ने बताया ·ि प्रशासन द्वारा उन·ी ·ोई सुध नहीं ली गई और हस्पतालों में भी उन्हें अपने खर्चे से ईलाज ·रवाना पड़ रहा है जब·ि घोषणा ·ी गई थी ·ि सभी घायलो ·ा ईलाज सर·ारी मदद से ·रवाया जायेगा। उन्होंने ·हा ·ि नीजि हस्पतालों ·े संचाल·ो ·ा रवैया भी पक्षपात पूर्ण रहा है। उन्होंने बताया ·ि ·ॉलेज प्रबंध· समिति द्वारा भी उन·ी ·ोई सुध नही ली गई। प्रबंध· समिति द्वारा ·हा जा रहा है ·ि व्यापारियों एवं उद्योगपतियो से पैसे ए·त्रित ·र पीडि़तो ·ो दिये गए ले·िन उन्हें ·ोई मदद नहीं दी गई। इस बारे प्रबंध· समिति  गुमराह ·र रही है। उन्होंने ·हा ·ि जो छात्र इस हादसें में मारे गए हैं प्रबंध· समिति ·ो उन·े सैमेस्टर ·ी फीस वापिस ·रनी चाहिए ले·िन ऐसा नहीं ·िया जा रहा है। उन्होंने ·हा ·ि हादसें में जिन स्टाफ ·े सदस्यों ·ी मौत हुई है उन·ा वेतन भी जारी नहीं ·िया गया। पीडि़तो ने बताया ·ि सर·ार द्वारा मुआवजा राशि भी नाममात्र ·ी दी जा रही है। पीडितों ·ी गुहार सुनने ·े बाद विधाय· दिलबाग सिंह ने आरोप लगाया ·ि हरियाणा ·े मुख्यमंत्री इस हादसें में भी क्षेत्रवाद ·ा पक्षपात पूर्ण रवैया अपनाये हुए हैं। उन्होंने ·हा ·ि इस प्र·ार ·े हादसें जब दक्षिण हरियाणा में होते हैं तो न ·ेवल मृत·ो ·े परिजनो ·ो उचित मुआवजा दिया जाता है बल्·ि उन·े परिवार ·े सदस्यों ·ो सर·ारी नौ·री भी दी जाती है ले·िन यमुनानगर में मृत·ो ·े परिवारों ·ो मात्र ए·-ए· लाख रूपये ·ी आर्थि· सहायता दी जा रही है। उन्होंने मांग ·ी ·ि सभी मृत·ो ·े परिजनो ·ो ·म से ·म 20 लाख रूपये मुआवजा दिया जाए और उन·े परिवार ·े सदस्य ·ो सर·ारी नौ·री दी जाए जब त· नौ·री नहीं लगती तब त· उचित पैंशन ·ा प्रबंध ·िया जाए ता·ि वे मानसि· तनाव से उभर स·े व उन·ी जीवि·ा चल स·े। उन्होंने ·हा ·ि दुर्घटना में शारीरि· रूप से अपंग व शिक्षित बच्चों ·ो भी यथा योग्य सर·ारी नौ·री दी जानी चाहिए। उन्होंने ·हा ·ि ·ई परिवारों ने अपने बच्चों ·ो पढ़ाने ·े लिए बैं· व अन्य स्त्रोतों से ·र्ज लिया था और अब न ·ेवल उन·ा बच्चा चला गया है बल्·ि उन पर ·र्ज ·ा बोझ भी बढ़ रहा है। इसलिए उन·ा ·र्ज माफ ·िया जाना चाहिए।
वहीं जिला रैड·्रॉस सचिव डी.आर.शर्मा ने बताया ·ि सभी घायलो ·ा ईलाज सर·ारी सहायता से ·रवाया जा रहा है और अगर ·िसी अभिभाव· ने प्राईवेट हस्पताल में पैसे खर्च ·िये हैं तो वह बिल दिखा·र पैसे वापिस ले स·ता है। उन्होने बताया ·ि प्रशासन द्वारा मृत·ों ·े परिवारो ·े चार बच्चों ·ो बारहवीं ·क्षा त· निशुल्· शिक्षा व ·िताबों ·ा प्रबंध ·रवा दिया गया है और इस संबंध में लिखित तौर पर स्·ूल प्रबंध·ो ने प्रशासन ·ो भी दे दिया है। ए· महिला ·ो रैड·्रॉस ·े माध्यम से नौ·री ·ी भी पेश·श ·ी गई है। सभी मृत·ो ·े परिजनों ·ो ए·-ए· लाख रूपये, गंभीर रूप से घायलो ·ो 25-25 हजार रूपये तथा अन्य घायलो ·ो 10-10 हजार रूपये ·ी राशि ·े चै· वितरित ·र दिये गए हैं।

Monday, May 16, 2011

नेह्लदंपत्ति ने निगला जहर, मौत

नेह्लदंपत्ति ने निगला जहर, मौत

दो माह पहले हुई थी शादी


जगाधरी। शादी ·े मंडप में ए· दूसर ·े साथ सात जन्म त· जीने मरने ·ी ·सम खाई थी। अग्नि ·ो साक्षी मान·र हर सुख-दुख सांझा ·रने तथा मिल·र मु·ाबला ·रने ·ी शपथ ली थी। परंतु उन्हें शायद यह नहीं पता था ·ि इन सब·ो शादी ·े दो माह बाद ही पूरा ·रने पड़ जाएगा।

सोमेह्लार ·ी सुबह मसानारांगड़ान गांेह्ल निेह्लासी ए· नेह्लदंपति ने जहरीला पदार्थ खा लिया। दोनों ·ो गंभीर हालत में शहर ·े निजी अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचने पर दोनों ·ी मौत हो गई। सूचना पर पुलिस ने शेह्लों ·ो ·ब्जें में ले·र पोस्टमार्टम ·े लिए भेज·र ·ार्रेह्लाई शुरू ·र दी थी।

गांेह्ल मसाना रांगडान निेह्लासी धर्मपाल ने बताया ·ि उस·े बेटे चुन्नी लाल ·ी शादी दो माह पहले अशो· ेिह्लहार निेह्लासी गीता ·े साथ हुई थी। सोमेह्लार सुबह चुन्नी लाल यह ·ह·र घर से नि·ला था ·ि ेह्लह गीता ·ो उस·े माइ·े छोडऩे जा रहा है। ·ुछ ही देर बाद परिेह्लार ेह्लालों ·ो सूचना मिली ·ि गांेह्ल से थोड़ी दूरी पर स्थित नलेह्ली नहर पर ेह्लह बेहोश पड़े थे। इस पर परिजन तुरंत मौ·े पर पहुंचे। ेह्लह दोनों ·ो उठा·र शहर ·े निजी अस्पताल में ले गए। अस्पताल में पहुंचने पर पहली गीता और बाद में चुन्नीलाल ·ी मौत हो गई। दंपति द्वारा जहर ााए जाने ·े ·ारणों ·ा पता नहीं लग पाया है। पुलिस ने शेह्लों ·ो पोस्टमार्टम ·े लिए अपने ·ब्जे में ले ·ार्रेह्लाही शुरू ·र दी है। जांच अधि·ारी जोगेंद्र सिंह ने बताया ·ि दंपति ने ·िस परिस्थितियों में जहर खाया। इस बार में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। परिजनों ·े बयान दर्ज ·िए जाएंगे। उस·े बाद ही मामला साफ हो पाएगा। फिलहाल शेह्लों ·ो ·ब्जे में ले·र पोस्टमार्टम ·क्ष में रखेह्ला दिया गया है।

Sunday, May 15, 2011

laden ki maut

जठलाना में हुई एससी समुदाय की महापंचायत

रादौर के गांव बरहेड़ी के भूमि विवाद को लेकर जठलाना में हुई एससी समुदाय
की महापंचायत राजनीतिक रंग में रंगी नजर आई। बीएसपी पार्टी के नेता रविवार को
खुलकर मंच पर बोले। हालांकि पहले ही साफ था कि मामले में बीएसपी के नेता हस्तक्षेप

कर रहे है। लेकिन रविवार को हुई महापंचायत से स्थिति आईने की तरह साफ कर दी। महापंचायत पर बीएसपी का रंग चढ़ता देखकर अन्य पार्टियों के दलित नेता महापंचायत से कन्नी काटते नजर आए और महापंचायत को बीच में ही छोड़ कर चले गए। महापंचायत में एससी समुदाय के हितों के लिए मिलकर लड़ाई लडने की बात तो कही गई लेकिन सारी बाते बीएसपी नेताओं के माध्यम से ही की गई। जिससे बरहेड़ी विवाद अब एक नये रंग में रंगा नजर आएगा। महापंचायत में सरकार व प्रशासन को खुली चुनौती दी गई। महापंचायत में पहुंचे एससी समुदाय व बीएसपी पार्टी के नेताओं ने गांव बरहेड़ी के एससी समुदाय के लोगों को न्याय दिलाने की बात मंच से कही। पंचायत में निर्णय लिया गया कि गांव बरहेड़ी की दो कनाल विवादित भूमि पर हर कीमत पर अम्बेडक़र भवन बनाया जाएगा। रविवार को पूरा दिन जठलाना क्षेत्र पुलिस छावनी में तबदील रहा। वहीं बरहेड़ी विवाद को लेकर गाव के लोग बसपा प्रदेश प्रभारी व उत्तरप्रदेश सांसद राजाराम से 12 मई को यमुनानगर में मिलेगें और उन्हें मामले से अवगत करवाया जाएगा। बसपा पार्टी की ओर से बरहेड़ी विवाद को सांसद राजाराम के माध्यम से लोकसभा में उठाया जाएगा। मामले का जल्द समाधान न होने पर बसपा पार्टी बरहेडी विवाद को लेकर प्रदेश के हर जिले में आंदोलन करेगी।

रेलवे स्टेशनों और धार्मि· स्थलों ·ो उडाने ·ी धम·ी

ओसामा बिन लादेन ·ी मौत से बौखलाए ए· आतं·ी संगठन ने उत्तर भारत ·े ·ुछ रेलवे स्टेशनों और धार्मि· स्थलों ·ो उडाने ·ी धम·ी दी है और इसी तरह ·ी धम·ी वाला ए· लैटर यमुनानगर जगाधरी रेलवे स्टेशन मास्टर ·ो मिला है। खत मिलने ·े बाद रेलवे पुलिस ने व्याप· स्तर रेलवे स्टेशनों ·ी सुरक्षा बढा दी है।

जान·ारी ·े मुताबि· यमुनाननगर जगाधरी रेलवे स्टेशन ·े स्टेशन मास्टर ·ो डा· से शनिवार ·ो ए· खत मिला। खत में लिखा है ·ि ओसामा ·ी मौत ·ा बदला अमेरि·ा,इंगलेंड,ब्रिटेन व भारत से लिया जाएगा। भारत में ·ई रेलवे स्टेशनों और धार्मि· स्थलों ·ो उडाएंगे। पहले हरियाणा,उत्तरांचल व उत्तर प्रदेश ·े रेलवे स्टेशनों ·ो उडाया जाएगा। ·ुछ स्टेशनों ·े नाम लिखे हैं और इन्हें उडाने ·ी तारीख 28 मई दी गई है। दो सादे ·ागज पर टूटी फटी हिंदी में लिखे इस धम·ी भरे लेटर पर लश्·रे तयैबा ·रांची पा·िस्तान ·ी मौहर लगी है। ले·िन डा· विभाग ·ी मौहर स्पष्टï रूप से नहीं पढी जा रही जिससे मालूम हो स·े ·ि लेटर ·हां से पोस्ट ·िया गया है। लेटर मिलने ·े बाद उत्तर प्रदेश व उत्तरांचल सर·ार ·ो भी सूचित ·र दिया गया है। माना जा रहा है ·ि यह ·िसी सिरफिरे ·ा ·ाम भी हो स·ता है,ले·िन चूं·ि मामला गंभीर है। इसलिए जीआरपी ने अज्ञात व्यक्ति ·े खिलाफ मु·दमा दर्ज ·र लिया है। पुलिस थानों से अतिरिक्त पुलिस रेलवे स्टेशन पर भेजी गई है। रेलवे पुलिस थाना अधि·ारी संगीता सिंह ·े अनुसार इस·े अलावा रेलवे स्टेशन पर भारी सं या में पुलिस बल तैनात ·रने ·े बाद ·ंमांडो फोर्स मांगी गई है। गौरतलब है ·ि ·रीब ए· वर्ष पहले भी यहां ऐसा ए· लेटर आया था। ले·िन पुलिस प्रशासन इस लेटर ·ो ·ाफी गंभीरता से ले रहा है। रेलवे स्टेशन से गुजरने वाले हर व्यक्ति व उस·े सामान ·ी जांच ·ी जा रही है। रेलवे पुलिस ·े अनुसार सभी रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा ·डी ·र दी गई है।

फोटो-रेलवे स्टेशन जगाधरी यमुनानगर में धम·ी भरा पत्र मिलने ·े बाद लोगों ·ी ·डी जांच ·रती पुलिस

स्·ूली बस ेह्ल टैंपू भिड़े, १७ घायल

घायलों में तीन ·ी हालत गंभीर

घटना ·े बाद चाल· बस सहित फरार

गाधरीेह्लर्·शॉप। चंडीगढ-रुड़·ी हाइेह्ले स्थित बाईपास पुल पर ए· स्·ूली बस ेह्ल टैंपू ·ी भिड़ंत हो गई। भिड़ंत में टैंपू सेह्लार १७ लोग घायल हो गए। घायलों ·ो शहर ·े ए· निजी अस्पताल में भर्ती ·राया गया है। घायलों में तीन ·ी हालत गंभीर बनी हुई थी।

घायलों ·रनाल जिले ·े बीबीपुर जट्टान निेह्लासी नंदलाल ने बताया ·ि ेह्लह परिेह्लार ·े लोगों ·े साथ अपनी भूखड़ी गांेह्ल में अपनी बेटी ·ी ससुराल में गया था। शाम ·े समय परिेह्लार ·े सभी सदस्य ेह्लहां बातचीत ·र टैंपू में घर लौट रहे थे। रास्ते में यमुनानगर ·े बाईपास पुल पर सामने से आ रही ए· स्·ूली बस से उन·े टैंपू (टाटा अराईस) ·ो टक्कर दे मारी जिससे टाटा अराईस में बेठे सभी १७ लोग घायाल हो गए। इससे पहले ेह्लह संभल पाते बस ेह्लाला ेह्लहां से बस ·ो ले·र फरार हो गया। दुर्घटना ·ी सूचना मिलने पर पुलिस ने मौ·े पर पहुंच·र घायलों ·ो तुरंत निजी अस्पताल में उपचार ·े लिए भर्ती ·राया। जहां पर ईश देेह्ल, सुभाष, शे ार, गुरूदेेह्ल, ेिह्लष्णु, रामचंद्र, जिेह्लाया, लक्षमण, रामदेेह्ल श्याम, पेह्लन, नि·ू, नंदलाल, पालाराम, ओमा ·ो अस्पताल में भर्ती ·राया गया। इन·े अलोह्ला हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए तीन अन्य ·े बार में अभी ·ुछ पता नहीं चल पाया था। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज·र फरार बस चाल· ·ी तलाश शुरू ·र दी है।

नहीं ले रहे सब·

बीती २८ अप्रैल ·ो नेशनल हाइेह्ले नंबर-७३ पर श्रीराम इंस्टीच्यूट ·ी बस ेह्ल ट्र· ·े हादसे ·े बाद भी प्रशासन सब· नहीं ले रहा है। रेिह्लेह्लार ·ो अेह्ल·ाश होने ·े बाद यह स्·ूली बस शहर में ·ैसे घूम रही थी? इस·े अलोह्ला यदि ·िसी ·ाम से बस ·हीं गई थी तो उसमें स्पीड गेह्लर्नर ·े बार में जान·ारी क्यों नहीं ली गई? यदि उसमें स्पीड गेह्लर्नर होता तो चाल· बस ·ो इतनी जल्दी ेह्लहां से भगा·र नहीं ले जा स·ता था। इस हादसे ·े बाद आरटीए ेिह्लभाग ने भी ·ई स्·ूली बसों ·ी चे·िंग ·ी थी। उस दौरान ·ई ·ो नोटिस ेह्ल ·ुछ ·ो बाउंड भी ·िया गया था। इस·े बाद भी स्·ूली बस चाल·ो द्वारा अंधाधूंध गति से बस चलाने पर संस्थान प्रबंध·ों ेह्ल ट्रैफि· पुलिस द्वारा भी उन·े खिलाफ ·ार्रेह्लाई नहीं ·ी जा रही। इसी ·े चलते इस प्र·ार ·े चाल· आम जनता ·े लिए बस ·े स्थान पर मौत ·ी सेह्लारी ले·र नि·ल रहे है।